भारत वसुधैव कुटुंबकम की भावना के अनुरूप कार्य कर रहा है…

0
17

लोकतंत्र की जननी भारत में हो रहे G 20 सम्मलेन का स्वागत है

लीडरशिप, डेमोक्रेसी और गवर्नेंस एक दुसरे के पूरक

लोकतंत्र की जननी भारत में हज़ारो सालों से लोकतान्त्रिक पद्दति से निर्णय लिए जाते रहे हैं

लीडरशिप से देश और समाज को नई ऊर्जा, नई दिशा मिलती है

छत्रपति शिवाजी महाराज, लोकमान्य तिलक, महात्मा ज्योतिबा फूले, गोपाल कृष्ण गोखले समेत पुणे के सभी महान सपूतों को नमन

लोक सभा अध्यक्ष ने पुणे स्थित MIT विश्वद्यालय में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित किया

पुणे 24 दिसम्बर 2022: लोक सभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला ने आज पुणे स्थित MIT विश्वद्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में छात्रों, अध्यापकों और अन्य गणमान्य लोगों को सम्बोधित किया।

इस अवसर पर श्री बिरला ने पुणे आगमन पर हर्ष व्यक्त किया और छत्रपति शिवाजी महाराज, लोकमान्य तिलक, महात्मा ज्योतिबा फूले, गोपाल कृष्ण गोखले समेत पुणे के सभी महान सपूतों को नमन किया। उन्होंने विश्वविद्यालय को शिक्षा का मंदिर बताते हुए कहा कि विश्वविद्यालयों से नए चिंतन, नए विचार का सृजन होता है जिनसे सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन संभव हो सकें।

शासन-प्रशासन में युवाओं की भागीदारी का उल्लेख करते हुए श्री बिरला ने आशा व्यक्त की कि युवा शक्ति से भारत सम्पूर्ण विश्व का नेतृत्व करेगा और विश्व गुरु बन विश्व की अग्रिम पंक्ति में अपनी जगह लेगा। लोकतंत्र को शासन व्यवस्था की बुनियाद बताते हुए श्री बिरला ने कहा की भारत लोकतंत्र की जननी है, तथा भारत में हज़ारो सालों से लोकतान्त्रिक पद्दति से निर्णय लिए जाते रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि देश के युवा टेक्नोलॉजी, इनोवेशन, नवाचार के माध्यम से राष्ट्र का नवनिर्माण कर रहे हैं । प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के 2047 के विज़न का उल्लेख करते हुए श्री बिरला ने कहा युवाओं को भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का कार्य पूर्ण लगन और परिश्रम से करना होगा।

लीडरशिप के विषय पर अपने विचार प्रस्तुत करते हुए श्री बिरला ने कहा कि लीडरशिप से देश और समाज को नयी ऊर्जा, नई दिशा मिलती है। उन्होंने आगे कहा कि लीडरशिप, डेमोक्रेसी और गवर्नेंस आपस में जुड़े हुए हैं और एक दुसरे के पूरक हैं। श्री बिरला ने आर्थिक सामजिक क्षेत्र से लेकर व्यक्तिगत और आध्यात्मिक जीवन में लीडरशिप पर ज़ोर दिया और सभी को इस दिशा में प्रयास करने का आह्वान किया। उन्होंने सामूहिकता और सकारात्मक विचारों के आधार पर नेतृत्व पर बल दिया और कहा कि लोकतान्त्रिक मूल्यों के द्वारा ही देश की दिशा तय करनी होगी। अमृत काल का उल्लेख करते हुए श्री बिरला ने कहा कि आज़ादी के संग्राम के पश्चात् मिली स्वाधीनता के बाद भारत ने संविधान का निर्माण किया जिसने न्याय और समानता के मूल्यों के साथ देश का मार्गदर्शन किया है।

श्री बिरला ने लोकतंत्र की जननी भारत में आयोजित हो रहे G 20 सम्मलेन का स्वागत किया। उन्होंने G 20 में भारत की अध्यक्षता के विषय में कहा कि भारत वसुधैव कुटुंबकम के मूल्यों के आधार पर कार्य कर रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना का उल्लेख करते हुए श्री बिरला ने कहा कि कोरोना काल में भारत ने अपने मानवीय मूल्यों से प्रेरित हो सम्पूर्ण विश्व को वैक्सीन पहुंचाने का कार्य किया। भारत की लोकतान्त्रिक विरासत के विषय में श्री बिरला ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र एक लम्बे कालखंड से देश को दिशा देता रहा है।

अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मलेन में सम्बोधन

लोक सभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला ने आज अपने पुणे दौरे के दौरान अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मलेन को भी सम्बोधित किया। अग्रवाल समाज को परिश्रमी, संस्कारी और समर्पित बताते हुए श्री बिरला ने कहा कि अग्रवाल समाज का देश की प्रगति एवं समृद्धि में बड़ा योगदान रहा है। उन्होंने आगे कहा कि महाराजा अग्रसेन द्वारा दी गई शिक्षा एवं संस्कार अग्रवाल समाज को निरंतर समाज सेवा एवं समाज कल्याण के रास्ते में अग्रणी रखती हैं।

शिक्षा, स्वास्थय, आर्थिक विकास, रोज़गार सृजन जैसी कई पहलों में अग्रवाल समाज की श्रेष्ठ भूमिका के सन्दर्भ में श्री बिरला ने कहा की स्वतंत्रता संग्राम से लेकर अमृत काल तक अग्रवाल समाज ने सामाजिक आर्थिक परिवर्तन हेतु कई संकल्प पूरे किए हैं। इस उपलब्धि के लिए श्री बिरला ने सम्पूर्ण अग्रवाल समाज की सराहना की एवं हर्ष व्यक्त किया। आपदा, संकट में मानव सेवा को अग्रवाल समाज की विरासत बताते हुए श्री बिरला ने कहा कि कोरोना काल में भी अग्रवाल समाज ने सामूहिक प्रयासों से विश्व व्यापी कठिनाई में समर्पण और त्याग की भावना से कार्य किया एवं समाज को लाभ पहुंचाया।

भारत की तीव्र गति से बढ़ती अर्थव्यवस्था एवं प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का 2047 में विकसित भारत के विज़न का उल्लेख करते हुए श्री बिरला ने आह्वान किया कि युवा पीढ़ी अपने परिश्रम, शोध , नवाचार और सामूहिकता के बल पर देश को विश्व की अग्रिम पंक्ति पर पहुंचाने का संकल्प करे। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया की नयी पीढ़ी के युवा इस चुनौती को अवश्य पूरा करेंगे।

श्री बिरला ने सांसद श्री गिरीश बापट से मुलाक़ात की

श्री बिरला ने पुणे के सांसद श्री गिरीश बापट से दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल में मुलाकात की। उन्होंने डॉक्टरों से उनके स्वास्थ्य एवं चिकित्सा के विषय में चर्चा की । श्री बिरला ने श्री बापट के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here